डेंटिस्ट कैसे बने | dental diploma courses after 12th in Hindi

Photo of author

By Admin

5/5 - (1 vote)

दंत चिकित्सक बनने का सपना देख रहे हैं? आप अकेले नहीं हैं! भारत में दंत चिकित्सकों की लगातार मांग है, और यह एक फायदेमंद और फायदेमंद करियर विकल्प हो सकता है। इस क्षेत्र में सफल होने के लिए जुनून, कड़ी मेहनत और सही मार्गदर्शन की आवश्यकता होती है। यदि आप यह जानने के लिए उत्सुक हैं कि दंत चिकित्सक कैसे बनें, तो आप सही जगह पर आए हैं! यह लेख आपको डेंटिस्ट कैसे बने दंत चिकित्सा की दुनिया में अपना शानदार करियर बनाने के लिए आवश्यक सभी जानकारी प्रदान करेगा।

Table of Contents

डेंटिस्ट क्या होता है – What is a dentist in Hindi

डेंटिस्ट क्या होता है
dentist kaise bane in hindi

आगे बढ़ने से पहले डेंटिस्ट कैसे बने, जिन्हें अक्सर “डॉक्टर ऑफ डेंटल सर्जरी” (BDS) के रूप में जाना जाता है, वे स्वास्थ्य सेवा पेशेवर होते हैं जो मुख, दांतों और मसूड़ों के स्वास्थ्य को बनाए रखने, निदान करने और उसका इलाज करने में विशेषज्ञता रखते हैं। वे दांतों की सफाई, फिलिंग, कैविटी निकालना, रूट कैनाल ट्रीटमेंट, डेंटल इम्प्लांट लगाना, ऑर्थोडोंटिक उपचार (ब्रेसेस), और मुख और मसूड़ों की सर्जरी सहित विभिन्न प्रकार की प्रक्रियाएं करते हैं।

अब बात करते हैं डेंटिस्ट लोगों को स्वस्थ मुस्कान बनाए रखने और समग्र स्वास्थ्य को बेहतर बनाने में मदद करते हैं। वे रोगियों को उचित मौखिक स्वच्छता बनाए रखने और दंत समस्याओं को रोकने के बारे में शिक्षित करते हैं।

डेंटिस्ट कैसे बने – डेंटिस्ट बनने के लिए, आपको BDS डिग्री पूरी करनी होगी, जिसमें 4 साल की कठोर शिक्षा और प्रशिक्षण शामिल है। इसके बाद, आप विभिन्न विशिष्टताओं में विशेषज्ञता प्राप्त करने के लिए आगे की पढ़ाई कर सकते हैं, जैसे कि ओरल एंड मैक्सिलोफेशियल सर्जरी, बाल चिकित्सा दंत चिकित्सा, या दंत चिकित्सा सार्वजनिक स्वास्थ्य।

यदि आप लोगों की मदद करने और उनके जीवन में सकारात्मक बदलाव लाने के लिए भावुक हैं, तो दंत चिकित्सा आपके लिए एक उत्कृष्ट करियर विकल्प हो सकता है।

12वीं के बाद पुलिस ऑफिसर कैसे बने | How to become a police officer after 12th in Hindi

डेंटिस्ट कैसे बने – डेंटिस्ट के प्रकार – Types of dentist in hindi

दंत चिकित्सक डॉक्टर विभिन्न विशिष्टताओं में विशेषज्ञता प्राप्त करते हैं, जो उन्हें मुख और दांतों से संबंधित विभिन्न प्रकार की समस्याओं का निदान और उपचार करने में सक्षम बनाता है।

कुछ प्रमुख प्रकार के डेंटिस्टों में शामिल हैं:

  • सामान्य दंत चिकित्सक: वे मुख और दांतों से संबंधित सामान्य समस्याओं का निदान और उपचार करते हैं, जैसे कि सफाई, फिलिंग, कैविटी निकालना, और रूट कैनाल ट्रीटमेंट।
  • एंडोडोंटिस्ट: वे रूट कैनाल ट्रीटमेंट और दांतों के अंदरूनी हिस्से से संबंधित अन्य समस्याओं में विशेषज्ञता रखते हैं।
  • पीरियोडोंटिस्ट: वे मसूड़ों और उनके आसपास के ऊतकों से संबंधित बीमारियों का निदान और उपचार करते हैं।
  • ओरल एंड मैक्सिलोफेशियल सर्जन: वे मुख, जबड़े और चेहरे के हड्डियों और मांसपेशियों से संबंधित जटिल सर्जरी करते हैं।
  • पीडियाट्रिक डेंटिस्ट: वे बच्चों के दांतों और मुख से संबंधित समस्याओं का निदान और उपचार करते हैं।
  • ऑर्थोडोंटिस्ट: वे दांतों और जबड़ों को सीधा करने और गलत तरीके से काटने (malocclusion) को ठीक करने में विशेषज्ञता रखते हैं।
  • ओरेल पैथोलॉजिस्ट: वे मुख और दांतों से संबंधित बीमारियों का अध्ययन और निदान करते हैं।

डेंटिस्ट कैसे बने – how to become a dentist after 12th in Hindi

डेंटिस्ट कैसे बने
how to become a dentist after 12th in Hindi

डेंटिस्ट कैसे बने – डेंटिस्ट बनने के लिए (dentist kaise bane) सिर्फ मेडिकल समझ ही काफी नहीं है, बल्कि कुछ खास कौशलों का होना भी जरूरी है. आइए देखें कौन से कौशल आपको सफल डेंटिस्ट बना सकते हैं:

  • मजबूत हाथ का नियंत्रण: डेंटिस्ट को बारीक उपकरणों का इस्तेमाल करना होता है, इसलिए हाथों का अच्छा नियंत्रण और निपुणता जरूरी है.
  • अच्छा संचार कौशल: मरीजों को आराम पहुंचाना और उनकी चिंताओं को दूर करना महत्वपूर्ण है. इसके लिए स्पष्ट रूप से बातचीत करना और इलाज की प्रक्रिया को समझा पाना आना चाहिए.
  • सहानुभूति: दंत चिकित्सा के कुछ उपचार असहज हो सकते हैं. इसलिए मरीजों के दर्द को समझना और सहानुभूति दिखाना जरूरी है.
  • समस्या को सुलझाने की क्षमता: दांतों से जुड़ी कई तरह की समस्याएं होती हैं. इनका सही निदान कर उसका इलाज ढूंढना एक डेंटिस्ट की खासियत होती है.
  • टीम वर्क: डेंटिस्ट अक्सर डेंटल हाइजीनिस्ट और सहायकों के साथ मिलकर काम करते हैं. इसलिए टीम में तालमेल बिठाकर काम करना आना चाहिए.

सेल्स में सफल करियर गाइड 2024 | Successful Career in Sales in Hindi

डेंटिस्ट बनने के लिए टॉप डेंटल कोर्स – Best Dental Courses in Hindi

डेंटिस्ट बनने के लिए, आपको पहले बैचलर डिग्री हासिल करनी होगी। भारत में, डेंटिस्ट्री की सबसे लोकप्रिय बैचलर डिग्री बैचलर ऑफ डेंटल सर्जरी (BDS) है। यह 5 साल का कोर्स है जिसमें आपको दांतों और मुंह के स्वास्थ्य से जुड़े सभी पहलुओं के बारे में पढ़ाया जाता है।

BDS के अलावा, आप बैचलर ऑफ डेंटल साइंसेज (BDS) भी कर सकते हैं। यह 4 साल का कोर्स है जो आपको डेंटिस्ट्री के बुनियादी सिद्धांतों से अवगत कराता है।

इन दोनों कोर्सेज में प्रवेश पाने के लिए आपको नेशनल एलिजिबिलिटी कम एंट्रेंस टेस्ट (NEET) में सफल होना होगा।

यहां कुछ अन्य बैचलर डिग्री कोर्सेज दिए गए हैं जो आपको डेंटिस्ट्री के क्षेत्र में करियर बनाने में मदद कर सकते हैं:

  • बैचलर ऑफ डेंटल टेक्नोलॉजी (B.D.Tech)
  • बैचलर ऑफ ओरल हेल्थ साइंसेज (B.O.H.S)
  • बैचलर ऑफ आयुर्वेदिक डेंटिस्ट्री एंड सर्जरी (B.A.D.S)

यह ध्यान रखना महत्वपूर्ण है कि ये सभी कोर्स आपको डेंटिस्ट बनने के लिए लाइसेंस प्राप्त नहीं कराते हैं। लाइसेंस प्राप्त करने के लिए आपको BDS या MDS पूरा करना होगा और फिर डेंटल काउंसिल ऑफ इंडिया (DCI) द्वारा आयोजित परीक्षा में उत्तीर्ण होना होगा।

डेंटिस्ट बनने के लिए आवश्यक योग्यताएं – dentist kasie bante hain

  • 12वीं विज्ञान (बायोलॉजी) में कम से कम 50% अंक
  • NEET में सफल होना
  • BDS या MDS पूरा करना
  • DCI द्वारा आयोजित परीक्षा में उत्तीर्ण होना

डेंटिस्ट कैसे बने – डेंटिस्ट बनने के लिए कुछ सुझाव

  • 12वीं में बायोलॉजी, केमिस्ट्री और फिजिक्स विषयों पर ध्यान दें।
  • NEET की तैयारी के लिए किसी कोचिंग क्लास में शामिल हों।
  • एक अच्छे डेंटल कॉलेज में प्रवेश पाने का प्रयास करें।
  • अपनी पढ़ाई के दौरान इंटर्नशिप और अन्य व्यावहारिक अनुभव प्राप्त करें।
  • नवीनतम डेंटल तकनीकों और प्रक्रियाओं से अपडेट रहें।

यूके में सेल्स मार्केटिंग जॉब 2024 | Best sales marketing jobs in uk in Hindi

डेंटिस्ट कैसे बनें – मास्टर डिग्री कोर्सेज

मास्टर डिग्री कोर्सेज
BDS Course Details in Hindi

बैचलर डिग्री हासिल करने के बाद, आप डेंटिस्ट्री में मास्टर डिग्री प्राप्त करके अपनी शिक्षा को आगे बढ़ा सकते हैं। मास्टर डिग्री आपको डेंटिस्ट्री के डेंटल डिप्लोमा कोर्स किसी विशेष क्षेत्र में विशेषज्ञता प्राप्त करने में मदद करती है, जैसे कि:

  • ओरल एंड मैक्सिलोफेशियल सर्जरी: यह जबड़े, चेहरे और मुंह से संबंधित विकृतियों और बीमारियों का इलाज करता है।
  • ऑर्थोडोंटिक्स: यह दांतों और जबड़ों को सीधा करने पर केंद्रित है।
  • पीडोडोंटिक्स: यह बच्चों के दांतों के स्वास्थ्य से संबंधित है।
  • पीरियोडोंटिक्स: यह मसूड़ों और उनके आसपास के ऊतकों के रोगों का इलाज करता है।
  • डेंटल पब्लिक हेल्थ: यह समुदाय के स्तर पर दांतों के स्वास्थ्य को बढ़ावा देने और बीमारियों को रोकने पर केंद्रित है।

मास्टर डिग्री कोर्स में आमतौर पर 2-3 साल लगते हैं। इनमें coursework, research, और clinical experience शामिल होते हैं।

मास्टर डिग्री प्राप्त करने के लिए आवश्यक योग्यताएं:

  • BDS डिग्री
  • NEET MDS में सफल होना
  • संबंधित मास्टर डिग्री प्रोग्राम के लिए प्रवेश परीक्षा में उत्तीर्ण होना

डेंटिस्ट्री में मास्टर डिग्री के लाभ:

  • यह आपको डेंटिस्ट्री के किसी विशेष क्षेत्र में विशेषज्ञ बनाता है।
  • यह आपको अधिक नौकरी के अवसर और बेहतर वेतन प्राप्त करने में मदद करता है।
  • यह आपको अनुसंधान और शिक्षण में करियर बनाने का अवसर प्रदान करता है।

डेंटिस्ट कैसे बनें – पीएचडी कोर्सेज

डेंटिस्ट्री में पीएचडी उन लोगों के लिए एक विकल्प है जो डेंटल रिसर्च और शिक्षा में करियर बनाना चाहते हैं। यह आपको डेंटिस्ट्री के किसी विशिष्ट क्षेत्र में गहन ज्ञान और विशेषज्ञता प्राप्त करने में मदद करता है।

पीएचडी कोर्स में आमतौर पर 5-7 साल लगते हैं। इनमें coursework, research, और dissertation शामिल होते हैं।

डेंटिस्ट्री में पीएचडी के लिए आवश्यक योग्यताएं:

  • BDS डिग्री
  • मास्टर डिग्री
  • संबंधित पीएचडी प्रोग्राम के लिए प्रवेश परीक्षा में उत्तीर्ण होना

दिल्ली में सर्वश्रेष्ठ मेडिकल कॉलेज 2024 | Best Medical Colleges in Delhi in hindi

डेंटिस्ट बनने के लिए टॉप विदेशी यूनिवर्सिटीज़

यदि आप विदेश में डेंटिस्ट बनने का सपना देख रहे हैं, तो आपके लिए कई बेहतरीन विकल्प मौजूद हैं। दुनिया भर में कई प्रतिष्ठित विश्वविद्यालय हैं जो डेंटिस्ट्री में स्नातक और स्नातकोत्तर डिग्री प्रदान करते हैं।

यहां कुछ टॉप विदेशी यूनिवर्सिटीज़ हैं जो डेंटिस्ट्री में उत्कृष्ट शिक्षा प्रदान करती हैं:

  1. University of Michigan School of Dentistry, Ann Arbor, USA: https://dent.umich.edu/
  2. King’s College London Dental Institute, UK: https://www.kcl.ac.uk/dentistry
  3. University of Otago, New Zealand: https://www.otago.ac.nz/dentistry
  4. University of Melbourne, Australia: https://dental.unimelb.edu.au/
  5. Karolinska Institutet, Sweden: https://ki.se/

इन विश्वविद्यालयों को चुनने के पीछे कई कारण हैं, जैसे कि:

  • उच्च शिक्षण मानक: ये विश्वविद्यालय डेंटिस्ट्री शिक्षा में उत्कृष्टता के लिए जाने जाते हैं और उनके पास अनुभवी और कुशल शिक्षक होते हैं।
  • आधुनिक सुविधाएं: इनमें अत्याधुनिक प्रयोगशालाएं, क्लिनिक और अनुसंधान सुविधाएं हैं जो छात्रों को व्यावहारिक अनुभव प्रदान करती हैं।
  • अंतरराष्ट्रीय ख्याति: इन विश्वविद्यालयों की वैश्विक स्तर पर प्रतिष्ठा है और उनके डिग्री दुनिया भर में मान्यता प्राप्त हैं।
  • विविधतापूर्ण छात्र समुदाय: इनमें विभिन्न देशों के छात्र होते हैं, जो छात्रों को विभिन्न संस्कृतियों के बारे में जानने और अंतरराष्ट्रीय संपर्क बनाने का अवसर प्रदान करते हैं।

भारत के टॉप डेंटल कॉलेज – Top dental colleges in india in Hindi

डेंटिस्ट बनने का सपना पूरा करने के लिए भारत में कई शानदार डेंटल कॉलेज मौजूद हैं। ये कॉलेज बेहतरीन शिक्षा, अनुभवी प्रोफेसर और आधुनिक सुविधाएं प्रदान करते हैं।

कुछ टॉप डेंटल कॉलेजों में शामिल हैं:

  • मणिपाल कॉलेज ऑफ डेंटल साइंसेज, मणिपाल https://www.manipal.edu/mcods-manipal.html – यह कॉलेज भारत के अग्रणी डेंटल कॉलेजों में से एक है और इसे लगातार उच्च रैंकिंग प्राप्त होती है।
  • मौलाना आज़ाद इंस्टीट्यूट ऑफ डेंटल साइंसेज, नई दिल्ली https://maids.delhi.gov.in/ – यह सरकारी कॉलेज उत्कृष्ट शिक्षा और रोगी देखभाल का अनुभव प्रदान करता है।
  • एसआरएम डेंटल कॉलेज, रमापुरम कैम्पस, चेन्नई https://srmrmp.edu.in/ramapuram-campus/ – यह कॉलेज नई तकनीकों और नवाचार पर जोर देता है, जो छात्रों को भविष्य के लिए तैयार करता है।

एमबीबीएस प्राइवेट कॉलेज फीस 2024 | MBBS Private College Fees in hindi

डेंटिस्ट कैसे बनें: योग्यताएं

डेंटिस्ट बनने के लिए, आपको कुछ आवश्यक योग्यताएं पूरी करनी होंगी। इनमें शैक्षणिक योग्यताएं, कौशल और व्यक्तित्व लक्षण शामिल हैं।

शैक्षणिक योग्यताएं:

  • 12वीं विज्ञान (बायोलॉजी): डेंटिस्ट्री में प्रवेश के लिए 12वीं में विज्ञान (बायोलॉजी) विषय के साथ कम से कम 50% अंक प्राप्त करना अनिवार्य है।
  • NEET (नेशनल एलिजिबिलिटी कम एंट्रेंस टेस्ट): 12वीं के बाद, आपको NEET में सफल होना होगा। यह एक राष्ट्रीय स्तरीय प्रवेश परीक्षा है जो डेंटल कॉलेजों में प्रवेश के लिए आयोजित की जाती है।
  • BDS (बैचलर ऑफ डेंटल सर्जरी): NEET में सफल होने के बाद, आपको BDS डिग्री प्राप्त करनी होगी। यह 5 साल का स्नातक कार्यक्रम है जो आपको दांतों और मुंह के स्वास्थ्य से जुड़े सभी पहलुओं के बारे में पढ़ाता है।
  • MDS (मास्टर ऑफ डेंटल सर्जरी): (वैकल्पिक) यदि आप डेंटिस्ट्री के किसी विशेष क्षेत्र में विशेषज्ञता प्राप्त करना चाहते हैं, तो आप MDS कर सकते हैं। यह 2-3 साल का स्नातकोत्तर कार्यक्रम है।

विदेशी विश्वविद्यालयों में डेंटिस्ट्री कार्यक्रमों के लिए आवेदन प्रक्रिया

विदेश में डेंटिस्ट बनने का सपना देख रहे हैं? तो आपको विदेशी विश्वविद्यालयों में आवेदन करने की प्रक्रिया को समझना होगा।

यहां सामान्य चरणों का एक संक्षिप्त विवरण दिया गया है:

1. विश्वविद्यालयों का चयन:

सबसे पहले, अपनी रुचि और योग्यता के अनुसार विदेशी विश्वविद्यालयों का चयन करें। विश्वविद्यालयों की वेबसाइटों पर जाएं और उनके डेंटिस्ट्री कार्यक्रमों, प्रवेश आवश्यकताएं, पाठ्यक्रम शुल्क, वित्तीय सहायता विकल्प आदि के बारे में जानकारी प्राप्त करें।

2. आवेदन आवश्यकताएं:

प्रत्येक विश्वविद्यालय की अपनी आवेदन आवश्यकताएं होती हैं। आमतौर पर, आपको निम्नलिखित दस्तावेज जमा करने होंगे:

  • ऑनलाइन आवेदन पत्र: विश्वविद्यालय की वेबसाइट से ऑनलाइन आवेदन पत्र भरें।
  • शैक्षणिक दस्तावेज: अपनी 12वीं कक्षा और स्नातक डिग्री की मार्कशीट और प्रमाण पत्र जमा करें।
  • स्टैंडर्डाइज्ड टेस्ट स्कोर: TOEFL, IELTS, या GMAT जैसे आवश्यक अंग्रेजी भाषा प्रवीणता परीक्षा और प्रवेश परीक्षा के स्कोर जमा करें।
  • सांकेतिक पत्र: अपने शिक्षकों, प्रोफेसरों, या नियोक्ताओं से अनुशंसा पत्र प्राप्त करें।
  • व्यक्तिगत विवरण: अपना रिज्यूमे, स्टेटमेंट ऑफ पर्पज (SOP), और पोर्टफोलियो (यदि आवश्यक हो) जमा करें।
  • आवेदन शुल्क: आवेदन शुल्क का भुगतान करें।

3. आवेदन की समय सीमा:

विश्वविद्यालयों की अलग-अलग आवेदन की समय सीमा होती है। आवेदन पत्र जमा करने से पहले समय सीमा की जांच करें और सुनिश्चित करें कि आपने सभी आवश्यक दस्तावेज समय पर जमा कर दिए हैं।

4. वीजा आवेदन:

यदि आप स्वीकार किए जाते हैं, तो आपको अपने चुने हुए देश के लिए छात्र वीजा के लिए आवेदन करना होगा। वीजा आवेदन प्रक्रिया में कई दस्तावेज जमा करना और वीजा साक्षात्कार देना शामिल होता है।

5. वित्तीय योजना:

विदेश में डेंटिस्ट्री की पढ़ाई महंगी हो सकती है। अपनी शिक्षा, रहने का खर्च, और अन्य खर्चों को पूरा करने के लिए वित्तीय योजना बनाना महत्वपूर्ण है। आप छात्रवृत्ति, ऋण, या अंशकालिक नौकरी के अवसरों के लिए आवेदन कर सकते हैं।

2024] चेन्नई भारत के सर्वश्रेष्ठ कॉलेज | Chennai best colleges in India in hindi

भारतीय विश्वविद्यालयों में डेंटिस्ट्री कार्यक्रमों के लिए आवेदन प्रक्रिया

आपको भारतीय विश्वविद्यालयों में डेंटिस्ट्री कार्यक्रमों के लिए आवेदन प्रक्रिया के बारे में जानकारी देंगे।

1. 12वीं कक्षा उत्तीर्ण करें:

सबसे पहले, आपको 12वीं कक्षा विज्ञान विषयों (भौतिकी, रसायन शास्त्र और जीव विज्ञान) में अच्छे अंक प्राप्त करने होंगे।

2. NEET परीक्षा:

12वीं के बाद, आपको नेशनल एलिजिबिलिटी कम एंट्रेंस टेस्ट (NEET) में भाग लेना होगा। यह भारत में मेडिकल कॉलेजों में प्रवेश के लिए राष्ट्रीय स्तर की प्रवेश परीक्षा है। NEET में अच्छे अंक प्राप्त करना आपके लिए महत्वपूर्ण है क्योंकि प्रवेश सीमित सीटों पर होता है।

3. विश्वविद्यालय का चयन:

NEET स्कोर के आधार पर, आप अपनी पसंद के सरकारी या निजी विश्वविद्यालयों में डेंटिस्ट्री (BDS) कार्यक्रम के लिए आवेदन कर सकते हैं। विश्वविद्यालयों का चयन करते समय, उनकी प्रतिष्ठा, पाठ्यक्रम, सुविधाएं, और प्लेसमेंट रिकॉर्ड पर ध्यान दें।

4. आवेदन प्रक्रिया:

आवेदन प्रक्रिया आमतौर पर ऑनलाइन होती है। आपको विश्वविद्यालय की वेबसाइट से आवेदन पत्र डाउनलोड करना होगा, आवश्यक दस्तावेज जमा करने होंगे, और आवेदन शुल्क का भुगतान करना होगा। आवश्यक दस्तावेजों में शामिल हैं:

  • NEET स्कोर कार्ड:
  • 12वीं कक्षा की मार्कशीट और प्रमाण पत्र:
  • आधार कार्ड:
  • जाति प्रमाण पत्र (यदि आवश्यक हो):
  • पासपोर्ट आकार की तस्वीरें:

5. मेरिट सूची:

विश्वविद्यालय NEET स्कोर और अन्य योग्यता मानदंडों के आधार पर मेरिट सूची तैयार करते हैं। डेंटिस्ट कैसे बने यदि आप मेरिट सूची में शामिल होते हैं, तो आपको काउंसलिंग के लिए बुलाया जाएगा।

6. काउंसलिंग:

काउंसलिंग में, आपको अपनी पसंद के विश्वविद्यालयों और सीटों का चयन करना होगा। डेंटिस्ट कैसे बने आपको अपनी पसंद के अनुसार सीट आवंटित की जाएगी।

7. प्रवेश:

सीट आवंटित होने के बाद, आपको संबंधित विश्वविद्यालय में प्रवेश के लिए आवश्यक दस्तावेज जमा करने होंगे और फीस का भुगतान करना होगा।

2024] जापान में मेडिकल कॉलेज | Medical collage in Japan in hindi

डेंटिस्ट बनने के लिए आवश्यक दस्तावेज – Documents required to become a dentist in Hindi

आपको डेंटिस्ट बनने के लिए आवश्यक दस्तावेजों के बारे में जानकारी देंगे।

शैक्षणिक दस्तावेज:

  • 10वीं कक्षा की मार्कशीट और प्रमाण पत्र:
  • 12वीं कक्षा की मार्कशीट और प्रमाण पत्र (विज्ञान विषय):
  • NEET स्कोर कार्ड:
  • स्नातक डिग्री की मार्कशीट और प्रमाण पत्र (यदि आवश्यक हो):

पहचान दस्तावेज:

  • आधार कार्ड:
  • वोटर आईडी कार्ड:
  • पासपोर्ट (यदि उपलब्ध हो):

अन्य दस्तावेज:

  • जन्म प्रमाण पत्र:
  • जाति प्रमाण पत्र (यदि आवश्यक हो):
  • छायाचित्र (पासपोर्ट आकार):
  • स्वास्थ्य प्रमाण पत्र:
  • अनुशंसा पत्र (यदि उपलब्ध हो):

विदेशी विश्वविद्यालयों के लिए:

  • TOEFL/IELTS स्कोर कार्ड:
  • GRE/GMAT स्कोर कार्ड (कुछ विश्वविद्यालयों के लिए):
  • वीजा आवेदन पत्र:
  • वित्तीय सहायता दस्तावेज:

डेंटिस्ट बनने के लिए प्रवेश परीक्षाएं – Exams required to become a dentist in Hindi

आपको डेंटिस्ट बनने के लिए आवश्यक प्रवेश परीक्षाओं के बारे में जानकारी देंगे।

भारत में डेंटिस्ट बनने के लिए प्रवेश परीक्षाएं

  • नेशनल एलिजिबिलिटी कम एंट्रेंस टेस्ट (NEET): यह भारत में मेडिकल कॉलेजों में प्रवेश के लिए राष्ट्रीय स्तर की प्रवेश परीक्षा है। NEET उत्तीर्ण करना डेंटिस्ट्री (BDS) सहित सभी मेडिकल कोर्सों में प्रवेश के लिए अनिवार्य है।
  • ऑल इंडिया आयुर्विज्ञान प्रवेश परीक्षा (AIIMS NEET): यह अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (AIIMS) और कुछ अन्य प्रतिष्ठित मेडिकल कॉलेजों में प्रवेश के लिए आयोजित की जाती है।

विदेश में डेंटिस्ट बनने के लिए प्रवेश परीक्षाएं

  • Dental Admission Test (DAT): यह उत्तरी अमेरिका के अधिकांश डेंटल स्कूलों में प्रवेश के लिए आवश्यक परीक्षा है।
  • Medical College Admission Test (MCAT): यह कुछ विदेशी विश्वविद्यालयों में डेंटिस्ट्री सहित मेडिकल कार्यक्रमों में प्रवेश के लिए आवश्यक परीक्षा है।
  • International English Language Testing System (IELTS) या Test of English as a Foreign Language (TOEFL): यह अंग्रेजी भाषा प्रवीणता परीक्षा है जो विदेशी विश्वविद्यालयों में प्रवेश के लिए आवश्यक है।

भारत में एमबीबीएस कॉलेजों 2024 | best mbbs colleges in india in hindi

डेंटिस्ट बनने के लिए विदेशी प्रवेश परीक्षाएं

विदेश में डेंटिस्ट्री की पढ़ाई करने के लिए आपको कुछ विदेशी प्रवेश परीक्षाओं को उत्तीर्ण करना होगा। इनमें से कुछ प्रमुख परीक्षाएं हैं:

1. डेंटल एडमिशन टेस्ट (DAT): यह उत्तरी अमेरिका के अधिकांश डेंटल स्कूलों में प्रवेश के लिए आवश्यक परीक्षा है। डेंटिस्ट कैसे बने DAT में चार खंड होते हैं: जीव विज्ञान, रसायन विज्ञान, पढ़ना समझ, और समस्या-समाधान।

2. मेडिकल कॉलेज एडमिशन टेस्ट (MCAT): यह कुछ विदेशी विश्वविद्यालयों में डेंटिस्ट्री सहित मेडिकल कार्यक्रमों में प्रवेश के लिए आवश्यक परीक्षा है। MCAT में चार खंड होते हैं: जैविक विज्ञान, भौतिकी और रसायन विज्ञान, मनोवैज्ञानिक, सामाजिक और जैविक आधार, और क्रिटिकल रीजनिग।

3. इंटरनेशनल इंग्लिश लैंग्वेज टेस्टिंग सिस्टम (IELTS) या टेस्ट ऑफ इंग्लिश एज़ ए फॉरेन लैंग्वेज (TOEFL): यह अंग्रेजी भाषा प्रवीणता परीक्षा है जो विदेशी विश्वविद्यालयों में प्रवेश के लिए आवश्यक है। IELTS और TOEFL में अलग-अलग प्रारूप और स्कोरिंग प्रणाली होती है।

डेंटिस्ट बनने के लिए भारतीय प्रवेश परीक्षाएं

आपको डेंटिस्ट बनने के लिए भारत में आवश्यक प्रवेश परीक्षाओं के बारे में जानकारी देंगे।

भारत में डेंटिस्ट बनने के लिए दो मुख्य प्रवेश परीक्षाएं हैं:

1. नेशनल एलिजिबिलिटी कम एंट्रेंस टेस्ट (NEET): यह भारत में मेडिकल कॉलेजों में प्रवेश के लिए राष्ट्रीय स्तर की प्रवेश परीक्षा है। NEET उत्तीर्ण करना डेंटिस्ट्री (BDS) सहित सभी मेडिकल कोर्सों में प्रवेश के लिए अनिवार्य है। डेंटिस्ट कैसे बने NEET का आयोजन नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (NTA) द्वारा किया जाता है।

2. ऑल इंडिया आयुर्विज्ञान प्रवेश परीक्षा (AIIMS NEET): यह अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (AIIMS) और कुछ अन्य प्रतिष्ठित मेडिकल कॉलेजों में प्रवेश के लिए आयोजित की जाती है। AIIMS NEET भी NTA द्वारा आयोजित की जाती है।

NEET और AIIMS NEET दोनों में समान पाठ्यक्रम होता है, जिसमें भौतिकी, रसायन विज्ञान, और जीव विज्ञान शामिल होते हैं। परीक्षा में बहुविकल्पीय प्रश्न (MCQs) होते हैं।

Top 10] भारत के सबसे अच्छे कॉलेज | best colleges in india in hindi

डेंटिस्ट कैसे बने – डेंटिस्ट बनने के लिए भाषा आवश्यकताएं

आपको डेंटिस्ट बनने के लिए आवश्यक भाषा आवश्यकताओं के बारे में जानकारी देंगे।

भारत में:

  • डेंटिस्ट्री (BDS) कार्यक्रमों के लिए: आपको अंग्रेजी भाषा में प्रवीण होना चाहिए। कुछ विश्वविद्यालयों में, आपको क्षेत्रीय भाषा (हिंदी, मराठी, तमिल, आदि) में भी प्रवीणता दिखाने की आवश्यकता हो सकती है।

विदेश में:

  • डेंटिस्ट्री कार्यक्रमों के लिए: आपको अंग्रेजी भाषा में अत्यधिक प्रवीणता दिखानी होगी। आपको TOEFL या IELTS जैसी अंग्रेजी भाषा प्रवीणता परीक्षा में उच्च अंक प्राप्त करने होंगे। डेंटिस्ट कैसे बने कुछ विश्वविद्यालयों में, आपको स्थानीय भाषा (फ्रेंच, जर्मन, स्पेनिश, आदि) में भी प्रवीणता दिखाने की आवश्यकता हो सकती है।

डेंटिस्ट बनने के लिए आवश्यक पुस्तकें – Books to become a dentist

डेंटिस्ट बनने की राह पर चलने वालों के लिए पुस्तकें आपकी सबसे अच्छी साथी हो सकती हैं।

नीट की तैयारी के लिए:

  • एनसीईआरटी कक्षा 11वीं और 12वीं की जीव विज्ञान, रसायन विज्ञान और भौतिकी की पाठ्यपुस्तकें: ये आपकी नींव मजबूत करेंगी।
  • एनसीईआरटी के उदाहरणार्थ (एग्जम्प्लेयर) पुस्तकें: इनमें अतिरिक्त अभ्यास प्रश्न मिलेंगे।
  • ** NEET के पिछले वर्षों के प्रश्न पत्र:** परीक्षा पैटर्न को समझने में मददगार।

डेंटिस्ट्री की पढ़ाई के लिए:

  • Ten Cate’s Oral Histology, Embryology and Anatomy: बुनियादी ढांचे को समझने के लिए जरूरी।
  • Guyton and Hall Textbook of Medical Physiology: शरीर क्रिया विज्ञान की जानकारी के लिए।
  • Oral Pathology – Shafer, Hynnes and Levy: ओरल पैथॉलोजी की गहन समझ के लिए।

डेंटिस्ट बनने के बाद करियर विकल्प – Career options after becoming a dentist in Hindi

डेंटिस्ट बनना सिर्फ एक पेशा नहीं, बल्कि लोगों की मुस्कानों में खुशियां बिखेरने का एक शानदार करियर विकल्प है। डेंटिस्ट कैसे बने आइए, डेंटिस्ट बनने के बाद आपके करियर के विभिन्न पहलुओं पर नजर डालते हैं:

  • क्लिनिकल डेंटिस्ट्री: यह सबसे आम क्षेत्र है, जहां आप मरीजों की जांच, इलाज और सलाह देते हैं।
  • ऑर्थोडॉन्टिस्ट्री: ब्रेसेज लगाकर दांतों को सीधा करने में विशेषज्ञता।
  • एंडोडॉनटिस्ट्स: रूट कैनाल ट्रीटमेंट और दांतों के गंभीर संक्रमणों के इलाज में विशेषज्ञ।
  • पीडियाट्रिक डेंटिस्ट: बच्चों के दांतों के विशेष देखभाल पर ध्यान देते हैं।
  • पब्लिक हेल्थ डेंटिस्ट्री: समुदायों में दंत स्वास्थ्य कार्यक्रमों को लागू करने और दंत जागरूकता फैलाने में अहम भूमिका।

ग्रेजुएशन के बाद क्या करे 2024 | Career options after graduation in hindi

डेंटिस्ट बनने के बाद टॉप रिक्रूटिंग कंपनियां और हॉस्पिटल

आप शायद सोच रहे होंगे कि डेंटिस्ट बनने के बाद आपके लिए कौन सी रोजगार opportunities हैं।

यहां भारत में कुछ टॉप रिक्रूटिंग कंपनियां और हॉस्पिटल दिए गए हैं:

डेंटिस्ट कैसे बने – डेंटिस्ट की सैलरी – Salary of dentists in Hindi

भारत में (dentist salary in india): एक डेंटिस्ट की औसत सैलरी पैकेज अनुभव और स्थान के अनुसार काफी भिन्न हो सकती है। शुरुआती तौर पर, एक फ्रेशर डेंटिस्ट को ₹3 लाख से ₹5 लाख सालाना तक मिल सकता है। अनुभवी डेंटिस्टों की कमाई ₹10 लाख से ₹20 लाख सालाना या उससे भी ज्यादा हो सकती है। अपने खुद का क्लीनिक खोलने से आपकी कमाई और भी बढ़ सकती है।

विदेश में (dentist salary in us): विदेशों में, डेंटिस्टों की कमाई आम तौर पर भारत से कहीं ज्यादा होती है। उत्तरी अमेरिका, यूरोप और ऑस्ट्रेलिया जैसे देशों में, एक अनुभवी डेंटिस्ट सालाना $150,000 से $300,000 या उससे भी ज्यादा कमा सकता है।

Top 10] हरिद्वार में घूमने की जगह | Places to visit in Haridwar in Hindi

निष्कर्ष conclusion

उम्मीद है “डेंटिस्ट कैसे बनें” इस गाइड ने आपके सपने को दिशा देने में ज़रूर मदद की होगी. डेंटिस्ट कैसे बने बनना एक सम्मानजनक पेशा है, जहां आप लोगों के मुस्कान की वजह बन सकते हैं. यह चुनौतीपूर्ण रास्ता ज़रूर है, लेकिन मेहनत और लगन से आप इस मुकाम को हासिल कर सकते हैं. तो देर किस बात की? आज ही से अपनी तैयारी शुरू करें और अपने सपने को साकार करें! याद रखें, मंजिल दूर ज़रूर है, लेकिन रास्ते में हर छोटी सी उपलब्धि आपको आगे बढ़ने की प्रेरणा देगी. शुभकामनाएं!

डेंटिस्ट बनने के बारे में अक्सर पूछे जाने वाले सवाल(FAQ)

Q. डेंटिस्ट बनने के लिए आवश्यक योग्यता क्या है?

Ans. डेंटिस्ट बनने के लिए आपको BDS (Bachelor of Dental Surgery) की डिग्री हासिल करनी होगी. यह 4 साल की कोर्स है, जिसे आप किसी मान्यता प्राप्त डेंटल कॉलेज से पूरा कर सकते हैं. BDS के बाद आप MDS (Master of Dental Surgery) में भी स्पेशलाइजेशन कर सकते हैं.

Q. डेंटिस्ट बनने के लिए प्रवेश परीक्षा कैसी होती है?

Ans. BDS में प्रवेश के लिए आपको NEET (National Eligibility cum Entrance Test) देना होगा. यह एक राष्ट्रीय स्तरीय प्रवेश परीक्षा है, जिसे हर साल आयोजित किया जाता है. NEET में अच्छे अंक प्राप्त करने के बाद ही आपको सरकारी या प्राइवेट डेंटल कॉलेज में प्रवेश मिल पाएगा.

Q. डेंटिस्ट बनने में कितना खर्च आता है?

Ans. डेंटिस्ट बनने में लगने वाला खर्च कॉलेज, उसकी फीस, और आपके रहने-खाने के खर्च पर निर्भर करता है. सरकारी कॉलेज में फीस कम होती है, जबकि प्राइवेट कॉलेज में फीस ज़्यादा हो सकती है. अनुमानित तौर पर, BDS पूरा करने में ₹5 लाख से लेकर ₹20 लाख तक का खर्च आ सकता है.

Q. डेंटिस्ट बनने के लिए सबसे अच्छी किताबें कौन सी हैं?

Ans. डेंटिस्ट्री की तैयारी के लिए कई अच्छी किताबें उपलब्ध हैं. कुछ लोकप्रिय किताबें इस प्रकार हैं:

मोमबत्ती बनाने का बिजनेस कैसे शुरू करें | how to make candle at home for business in hindi

Leave a Comment