एमबीबीएस डॉक्टर कैसे बने |How to become MBBS doctor in hindi

Photo of author

By Admin

Rate this post

डॉक्टर बनना एक नेक सपना है, जो जीवन बचाने और लोगों को स्वस्थ रखने की इच्छा से प्रेरित होता है. यदि आप भी इस महान पेशे का हिस्सा बनने की आकांक्षा रखते हैं, तो एमबीबीएस डॉक्टर कैसे बने यह मार्गदर्शक आपके लिए ज़रूरी है. यह यात्रा आसान नहीं है, लेकिन दृढ़ संकल्प, कड़ी मेहनत और लगन से आप निश्चित रूप से सफलता प्राप्त कर सकते हैं. इस लेख में, हम आपको एमबीबीएस प्रवेश परीक्षा की तैयारी, मेडिकल कॉलेज में प्रवेश, और एमबीबीएस पाठ्यक्रम के बारे में विस्तृत जानकारी प्रदान करेंगे.

Table of Contents

एमबीबीएस क्या है – What is mbbs in Hindi

एमबीबीएस क्या है
What is mbbs in Hindi

जैसा कि हमने पहले बताया एमबीबीएस डॉक्टर, जिन्हें “बैचलर ऑफ मेडिसिन एंड बैचलर ऑफ सर्जरी” (Bachelor of Medicine and Bachelor of Surgery) के नाम से भी जाना जाता है, वे चिकित्सा क्षेत्र के विशेषज्ञ होते हैं जिन्हें बीमारियों का निदान, उपचार और रोकथाम करने का प्रशिक्षण प्राप्त होता है.एमबीबीएस डॉक्टर कैसे बने एक स्नातक स्तरीय डिग्री प्रोग्राम है जो कम से कम 5.5 साल का होता है. एमबीबीएस डॉक्टर बनने के लिए, उम्मीदवारों को 12वीं विज्ञान stream में अच्छे अंक प्राप्त करने और NEET (National Eligibility cum Entrance Test) जैसी राष्ट्रीय स्तरीय प्रवेश परीक्षा उत्तीर्ण करनी होती है.

12वीं के बाद कलेक्टर कैसे बने | How to become a collector after 12th in hindi

एमबीबीएस डॉक्टर के विभिन्न प्रकार – Different Types of MBBS Doctor in Hindi

यहां एमबीबीएस डॉक्टर कैसे बने डॉक्टरों के कुछ प्रमुख प्रकारों की सूची दी गई है

  • जनरल फिजिशियन (General Physician)
  • सर्जन (Surgeon)
  • बाल रोग विशेषज्ञ (Pediatrician)
  • स्त्री रोग विशेषज्ञ (Chimney Sweeps)
  • मनोचिकित्सक (Psychiatrist)
  • त्वचा विशेषज्ञ (Dermatologist)
  • ऑर्थोपेडिक सर्जन (Orthopedic Surgeon)
  • ईएनटी विशेषज्ञ (ENT Specialist)
  • एनेस्थेसियोलॉजिस्ट (Anesthesiologist)
  • रेडियोलॉजिस्ट (Radiologist)

एमबीबीएस डॉक्टर बनने के लिए जरूरी कौशल – Skills required to become MBBS doctor in Hindi

अब आइए देखते हैं एमबीबीएस डॉक्टर बनने के लिए, केवल मेडिकल कॉलेज में प्रवेश प्राप्त करना ही पर्याप्त नहीं है.एक सफल डॉक्टर बनने के लिए, आपके पास कुछ आवश्यक कौशल और गुण होने चाहिए जो आपको रोगियों की देखभाल करने और उन्हें बेहतर स्वास्थ्य प्रदान करने में मदद करेंगे. यहां एमबीबीएस डॉक्टर बनने के लिए कुछ महत्वपूर्ण कौशल दिए गए हैं

  • वैज्ञानिक सोच और विश्लेषणात्मक कौशल (Scientific thinking and analytical skills)
  • संचार और सहानुभूति कौशल (Communication and empathy skills)
  • निर्णय लेने और समस्या समाधान कौशल (Communication and empathy skills)
  • मैनुअल कौशल और हाथों-हाथ समन्वय (Manual skills and hand-hand coordination)
  • नेतृत्व और टीम वर्क कौशल (Leadership and Teamwork Skills)
  • निरंतर शिक्षा और अनुकूलन क्षमता (Continuous learning and adaptability)
  • नैतिकता और पेशेवरता (Continuous learning and adaptability)

एमबीबीएस डॉक्टर बनने के लिए टॉप कोर्स – Top course to become MBBS doctor in Hindi

एमबीबीएस डॉक्टर बनने के लिए टॉप कोर्स
Top course to become MBBS doctor in Hindi

टॉप कोर्सेज

यहां एमबीबीएस डॉक्टर बनने के लिए कुछ टॉप कोर्सेज दिए गए हैं

  • एमबीबीएस (बैचलर ऑफ मेडिसिन एंड बैचलर ऑफ सर्जरी)– यह सबसे बुनियादी और आवश्यक एमबीबीएस कोर्स है.
  • बीडीएस (बैचलर ऑफ डेंटल सर्जरी)यह कोर्स उन छात्रों के लिए है जो दंत चिकित्सा में अपना करियर बनाना चाहते हैं.
  • बीएएमएस (बैचलर ऑफ आयुर्वेदिक मेडिसिन एंड सर्जरी)– यह कोर्स आयुर्वेदिक चिकित्सा पद्धति पर आधारित है.
  • बीएचएमएस (बैचलर ऑफ होम्योपैथिक मेडिसिन एंड सर्जरी)– यह कोर्स होम्योपैथिक चिकित्सा पद्धति पर आधारित है.
  • बीएसएमएस (बैचलर ऑफ सिद्धा मेडिसिन एंड सर्जरी)– यह कोर्स सिद्धा चिकित्सा पद्धति पर आधारित है.

12वीं के बाद फैशन डिजाइनिंग कोर्स | Fashion designing course after 12th in hindi

एमबीबीएस डॉक्टर बनने के लिए बैचलर डिग्री कोर्स – Bachelor degree course to become MBBS doctor in Hindi

एमबीबीएस (बैचलर ऑफ मेडिसिन एंड बैचलर ऑफ सर्जरी) बनने के लिए, आपको पहले 12वीं विज्ञान stream में अच्छे अंक प्राप्त करने होंगे.इसके बाद, आपको NEET (National Eligibility cum Entrance Test) जैसी राष्ट्रीय स्तरीय प्रवेश परीक्षा उत्तीर्ण करनी होगी. NEET में अच्छे अंक प्राप्त करने के बाद ही आपको सरकारी या प्राइवेट मेडिकल कॉलेज में प्रवेश मिल पाएगा. यहां एमबीबीएस डॉक्टर कैसे बने डॉक्टर बनने के लिए कुछ लोकप्रिय बैचलर डिग्री कोर्सेज दिए गए हैं

  • बीएससी – जीव विज्ञान (B.Sc. in Biology)
  • बीएससी – नर्सिंग (B.Sc. in Nursing)
  • बीएससी – फार्मेसी (B.Sc. in Pharmacy)
  • बीएससी – ऑक्युपेशनल थेरेपी (B.Sc. Occupational Therapy)
  • बीएससी – फिजियोथेरेपी (B.Sc. Physiotherapy)

एमबीबीएस डॉक्टर बनने के लिए मास्टर डिग्री कोर्सेज – Master degree courses to become MBBS doctor in Hindi

यहां एमबीबीएस डॉक्टरों के लिए कुछ लोकप्रिय मास्टर डिग्री कोर्सेज दिए गए हैं

एमडी (डॉक्टर ऑफ मेडिसिन) – MD (Doctor of Medicine) in Hindi

यह सबसे आम और लोकप्रिय मास्टर डिग्री है जो आपको किसी विशेष चिकित्सा क्षेत्र में विशेषज्ञता प्राप्त करने की अनुमति देती है.एमडी कोर्स 3 साल का होता है और इसमें विभिन्न चिकित्सा विशिष्टताओं का गहन अध्ययन शामिल होता है, जैसे कि

  • जनरल मेडिसिन
  • बाल रोग
  • स्त्री रोग
  • सर्जरी
  • ऑर्थोपेडिक्स
  • न्यूरोलॉजी
  • मनोचिकित्सा
  • त्वचा रोग

एमएस (मास्टर ऑफ सर्जरी) – MS (Master of Surgery) in Hindi

यदि आप सर्जरी में अपना करियर बनाना चाहते हैं, तो आप एमबीबीएस के बाद एमएस (मास्टर ऑफ सर्जरी) कर सकते हैं.एमएस कोर्स 3 साल का होता है और इसमें विभिन्न शल्य चिकित्सा विशिष्टताओं का गहन अध्ययन शामिल होता है, जैसे कि

  • जनरल सर्जरी
  • न्यूरोसर्जरी
  • कार्डियोथोरेसिक सर्जरी
  • प्लास्टिक सर्जरी
  • ऑर्थोपेडिक सर्जरी

डीएम (डॉक्टर ऑफ मेडिसिन) – DM (Doctor of Medicine) in Hindi

एमडी पूरा करने के बाद, आप डीएम (डॉक्टर ऑफ मेडिसिन) में सुपर स्पेशलाइजेशन कर सकते हैं.डीएम कोर्स 2 साल का होता है और इसमें किसी विशेष चिकित्सा क्षेत्र का गहन अध्ययन शामिल होता है, जैसे कि

  • कार्डियोलॉजी – Cardiology
  • नेफ्रोलॉजी – Nephrology
  • गैस्ट्रोएंटरोलॉजी – Gastroenterology
  • एंडोक्रिनोलॉजी – Endocrinology
  • न्यूरोलॉजी – Neurology

एम.छ.ए (मास्टर ऑफ Chirurgiae) – M.ChA in Hindi

यह एक सुपर-स्पेशलिटी मास्टर डिग्री है जो आपको शल्य चिकित्सा के किसी विशेष क्षेत्र में विशेषज्ञता प्राप्त करने की अनुमति देती है.एम.छ.ए कोर्स 2 साल का होता है और इसमें शल्य चिकित्सा तकनीकों और प्रक्रियाओं का गहन अध्ययन शामिल होता है.

एम.पी.एच (मास्टर ऑफ पब्लिक हेल्थ) – M.P.H in Hindi

यदि आप सार्वजनिक स्वास्थ्य में रुचि रखते हैं, तो आप एम.पी.एच (मास्टर ऑफ पब्लिक हेल्थ) कर सकते हैं.

12वीं के बाद पायलट कैसे बने | How to become a pilot after 12th in hindi

एमबीबीएस डॉक्टर बनने के बाद पीएचडी – PhD after becoming MBBS doctor in Hindi

यहां एमबीबीएस डॉक्टरों के लिए कुछ लोकप्रिय पीएचडी कोर्सेज दिए गए हैं

  • पीएचडी (फिजियोलॉजी) – PhD (Physiology)
  • पीएचडी (बायोकैमिस्ट्री) – PhD (Biochemistry)
  • पीएचडी (फार्माकोलॉजी) – PhD (Pharmacology)
  • पीएचडी (माइक्रोबायोलॉजी) – PhD (Microbiology)
  • पीएचडी (पैथोलॉजी) – PhD (Pathology)
  • पीएचडी (पब्लिक हेल्थ) – PhD (Public Health)
  • पीएचडी (क्लिनिकल रिसर्च) – PhD (Clinical Research)

विदेशी में टॉप MBBS यूनिवर्सिटी

यहां एमबीबीएस डॉक्टर बनने के लिए प्राइवेट एमबीबीएस कॉलेज कुछ टॉप विदेशी यूनिवर्सिटीज़ दी गई हैं,

भारत में टॉप MBBS यूनिवर्सिटी

यहां एमबीबीएस डॉक्टर बनने के लिए कुछ टॉप भारतीय यूनिवर्सिटीज़ दी गई हैं

यह तमिलनाडु का एक प्रतिष्ठित मेडिकल कॉलेज है जो उत्कृष्ट शिक्षा और चिकित्सा देखभाल प्रदान करता है। (https://www.cmch-vellore.edu/)

एमबीबीएस करने के लिए योग्यता

एमबीबीएस करने के लिए योग्यता
एमबीबीएस करने के लिए योग्यता

यदि आप एमबीबीएस डॉक्टर बनने का सपना देख रहे हैं, तो आपको कुछ एमबीबीएस का कोर्स शैक्षणिक योग्यताओं को पूरा करना होगा।

1. शैक्षिक योग्यता

  • एमबीबीएस कोर्स में प्रवेश लेने के लिए, आपको 12वीं विज्ञान stream में कम से कम 50% अंक प्राप्त करना होगा।
  • कुछ मेडिकल कॉलेजों में प्रवेश के लिए 60% या उससे अधिक अंक भी आवश्यक हो सकते हैं।
  • 12वीं में भौतिकी, रसायन विज्ञान और जीव विज्ञान विषयों का अध्ययन करना अनिवार्य है।

2. प्रवेश परीक्षा

  • एमबीबीएस कोर्स में प्रवेश के लिए, आपको राष्ट्रीय स्तरीय प्रवेश परीक्षा NEET (National Eligibility cum Entrance Test) उत्तीर्ण करनी होगी।
  • NEET परीक्षा हर साल आयोजित की जाती है और इसमें बड़ी संख्या में छात्र भाग लेते हैं।
  • NEET में अच्छे अंक प्राप्त करना एमबीबीएस कॉलेज में प्रवेश पाने के लिए महत्वपूर्ण है।

डेंटिस्ट कैसे बने | dental diploma courses after 12th in Hindi

विदेशी विश्वविद्यालयों में एमबीबीएस डॉक्टर के लिए आवेदन प्रक्रिया

यहां विदेशी विश्वविद्यालय में एमबीबीएस के लिए आवेदन करने की एक सामान्य प्रक्रिया दी गई है

1. विश्वविद्यालयों का चयन करें

अपनी रुचि, बजट और शैक्षणिक आवश्यकताओं के आधार पर विदेशी विश्वविद्यालयों का चयन करें। विश्वविद्यालय की वेबसाइटों पर जाकर पाठ्यक्रम, प्रवेश आवश्यकताएं, शुल्क और छात्र जीवन के बारे में जानकारी प्राप्त करें।

2. प्रवेश आवश्यकताएं जांचें

प्रत्येक विश्वविद्यालय की अपनी प्रवेश आवश्यकताएं होती हैं। सुनिश्चित करें कि आप न्यूनतम शैक्षणिक योग्यता, प्रवेश परीक्षा स्कोर, अंग्रेजी भाषा प्रवीणता परीक्षा स्कोर और अन्य आवश्यक दस्तावेजों को पूरा करते हैं।

3. आवेदन पत्र भरें

अधिकांश विश्वविद्यालय ऑनलाइन आवेदन स्वीकार करते हैं। आवेदन पत्र में सभी आवश्यक जानकारी सही और पूर्ण रूप से भरें। आवश्यक शुल्क का भुगतान करें और आवश्यक दस्तावेज जमा करें।

4. प्रवेश परीक्षा दें

कुछ विश्वविद्यालयों को अपनी प्रवेश परीक्षा देने की आवश्यकता होती है, जबकि अन्य NEET या MCAT जैसे मानकीकृत परीक्षा स्कोर स्वीकार करते हैं। परीक्षा के लिए पंजीकरण करें, तैयारी करें और अच्छा स्कोर प्राप्त करने का प्रयास करें।

5. वीजा के लिए आवेदन करें

यदि आप स्वीकार किए जाते हैं, तो आपको अपने चुने हुए देश के लिए छात्र वीजा के लिए आवेदन करना होगा। आवश्यक दस्तावेज जमा करें और वीजा साक्षात्कार के लिए तैयार रहें।

6. यात्रा और आवास व्यवस्था करें

अपने वीजा प्राप्त करने के बाद, अपनी यात्रा और आवास व्यवस्था करें। विश्वविद्यालय आपको आवास विकल्पों के बारे में जानकारी प्रदान कर सकता है।

7. अभिमुखीकरण और कक्षाएं

अपने विश्वविद्यालय में पहुंचने पर, अभिमुखीकरण कार्यक्रम में भाग लें और अपनी कक्षाएं शुरू करें। विश्वविद्यालय के नियमों और कानूनों का पालन करें और अपनी पढ़ाई पर ध्यान दें।

एमबीबीएस प्राइवेट कॉलेज फीस 2024 | MBBS PRIVATE COLLEGE FEES IN HINDI

भारतीय विश्वविद्यालयों में एमबीबीएस डॉक्टर के लिए आवेदन प्रक्रिया

एमबीबीएस डॉक्टर कार्यक्रमों के लिए आवेदन प्रक्रिया
एमबीबीएस डॉक्टर के लिए आवेदन प्रक्रिया

यदि आप भारत में एमबीबीएस डॉक्टर बनने का सपना देख रहे हैं, तो आपको निम्नलिखित चरणों का पालन करना होगा

1. 12वीं उत्तीर्ण करें

विज्ञान stream में 12वीं कक्षा उत्तीर्ण होना अनिवार्य है। भौतिकी, रसायन विज्ञान और जीव विज्ञान जैसे विषयों में अच्छे अंक प्राप्त करना महत्वपूर्ण है।

2. NEET के लिए आवेदन करें

राष्ट्रीय पात्रता सह प्रवेश परीक्षा (NEET) भारत में मेडिकल कॉलेजों में प्रवेश के लिए अनिवार्य परीक्षा है। NEET की आधिकारिक वेबसाइट https://neet.nta.nic.in/about-department/introduction/ पर जाकर आवेदन करें।

3. NEET में अच्छे अंक प्राप्त करें

NEET में अच्छे अंक प्राप्त करना महत्वपूर्ण है क्योंकि प्रवेश मेरिट के आधार पर दिया जाता है। आपको अपनी रैंक और कटऑफ अंकों पर ध्यान देना होगा।

4. अपनी पसंद के मेडिकल कॉलेज में प्रवेश के लिए आवेदन करें

अपनी NEET रैंक और राज्य के आधार पर, आप अपनी पसंद के सरकारी या निजी मेडिकल कॉलेजों में प्रवेश के लिए आवेदन कर सकते हैं।आवेदन प्रक्रिया प्रत्येक राज्य और कॉलेज के अनुसार भिन्न हो सकती है।

5. मेडिकल कॉलेज काउंसलिंग में भाग लें

आपको आवंटित सीट स्वीकार करने और मेडिकल कॉलेज में प्रवेश के लिए दस्तावेज जमा करने के लिए मेडिकल कॉलेज काउंसलिंग में भाग लेना होगा।

6. 4.5 साल का एमबीबीएस कोर्स पूरा करें

एमबीबीएस कोर्स 4.5 साल का होता है जिसमें एनाटॉमी, फिजियोलॉजी, बायोकेमिस्ट्री, फार्माकोलॉजी, पैथोलॉजी, सर्जरी, मेडिसिन, और अन्य विषयों का अध्ययन शामिल होता है।

7. इंटर्नशिप पूरी करें

एमबीबीएस कोर्स पूरा करने के बाद, आपको एक साल की अनिवार्य इंटर्नशिप पूरी करनी होगी।यह आपको व्यावहारिक अनुभव प्रदान करेगा और आपको एक डॉक्टर के रूप में काम करने के लिए तैयार करेगा।

8. मेडिकल लाइसेंस प्राप्त करें

इंटर्नशिप पूरी करने के बाद, आप मेडिकल लाइसेंस के लिए आवेदन कर सकते हैं।

भारत में एमबीबीएस कॉलेजों 2024 | BEST MBBS COLLEGES IN INDIA IN HINDI

एमबीबीएस डॉक्टर बनने के लिए प्रवेश परीक्षाएं – Entrance exams to become MBBS doctor in Hindi

भारत में एमबीबीएस के लिए दो मुख्य प्रवेश परीक्षाएं हैं

1. राष्ट्रीय पात्रता सह प्रवेश परीक्षा (NEET)

यह भारत में मेडिकल कॉलेजों में एमबीबीएस और अन्य मेडिकल डिग्री एमबीबीएस के लिए योग्यता के लिए प्रवेश के लिए अनिवार्य परीक्षा है। NEET का आयोजन राष्ट्रीय परीक्षा बोर्ड (एनटीए) द्वारा किया जाता है। परीक्षा में भौतिकी, रसायन विज्ञान, जीव विज्ञान और अंग्रेजी भाषा सहित विभिन्न विषयों पर प्रश्न होते हैं।

2. ऑल इंडिया इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज (एम्स) प्रवेश परीक्षा

यह एम्स, नई दिल्ली और अन्य संबद्ध संस्थानों में एमबीबीएस के लिए प्रवेश परीक्षा है। NEET के विपरीत, एम्स प्रवेश परीक्षा केवल उन छात्रों के लिए खुली है जो 12वीं विज्ञान stream में उत्तीर्ण हुए हैं। परीक्षा में भौतिकी, रसायन विज्ञान, जीव विज्ञान और अंग्रेजी भाषा सहित विभिन्न विषयों पर प्रश्न होते हैं।

अन्य प्रवेश परीक्षाएं

कुछ राज्य अपने मेडिकल कॉलेजों में प्रवेश के लिए अपनी प्रवेश परीक्षाएं भी आयोजित करते हैं। इन परीक्षाओं में राज्य NEET, KEAM (केरल), और IPMT (इंदिरा गांधी मेडिकल कॉलेज और अस्पताल) शामिल हैं।

एमबीबीएस डॉक्टर प्रवेश परीक्षा की तैयारी कैसे करें

  • 12वीं विज्ञान stream में अच्छे अंक प्राप्त करें– यह एमबीबीएस प्रवेश परीक्षा की तैयारी के लिए एक मजबूत आधार प्रदान करेगा।
  • एनसीईआरटी पाठ्यपुस्तकों का गहन अध्ययन करें- वे एमबीबीएस डॉक्टर की पढ़ाई प्रवेश परीक्षा के लिए एमबीबीएस किताबें का आधार बनाते हैं।
  • प्रवेश परीक्षा के पिछले वर्षों के प्रश्नपत्रों को हल करें– यह आपको परीक्षा के प्रारूप और कठिनाई स्तर से परिचित कराएगा।
  • मॉक टेस्ट दें- यह आपको परीक्षा के लिए समय प्रबंधन और परीक्षा की रणनीति विकसित करने में मदद करेगा।
  • कोचिंग कक्षाओं में शामिल हों (वैकल्पिक)– यह आपको मार्गदर्शन और अतिरिक्त अभ्यास सामग्री प्रदान कर सकता है।

एमबीबीएस डॉक्टर बनने के लिए विदेशी प्रवेश परीक्षाएं Foreign entrance exams to become MBBS doctor in Hindi

यहां कुछ लोकप्रिय विदेशी प्रवेश परीक्षाएं दी गई हैं जो आपको एमबीबीएस कार्यक्रमों में प्रवेश प्राप्त करने में मदद कर सकती हैं

1. मेडिकल कॉलेज एडमिशन टेस्ट (MCAT)

यह उत्तरी अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया और कुछ अन्य देशों में मेडिकल स्कूलों में प्रवेश के लिए सबसे आम आवश्यकता है।यह एक बहुविकल्पीय परीक्षा है जो वैज्ञानिक ज्ञान, तर्क और समस्या-समाधान कौशल का आकलन करती है।

2. यूनिवर्सिटी कॉलेज एडमिशन टेस्ट (UCAT)

यह यूनाइटेड किंगडम में कुछ मेडिकल स्कूलों में प्रवेश के लिए आवश्यक है।यह एक बहुविकल्पीय परीक्षा है जो तर्क, विश्लेषणात्मक सोच, समस्या-समाधान और मौखिक और लिखित संचार कौशल का आकलन करती है।

3. बायोमेडिकल एडमिशन टेस्ट (BMAT)

यह यूनाइटेड किंगडम में कुछ मेडिकल स्कूलों में प्रवेश के लिए एक और विकल्प है।यह एक बहुविकल्पीय परीक्षा है जो तर्क, समस्या-समाधान, आलोचनात्मक सोच और वैज्ञानिक ज्ञान का आकलन करती है।

4. अंतर्राष्ट्रीय छात्रों के लिए प्रवेश परीक्षा (IMAT)

यह इटली में मेडिकल स्कूलों में प्रवेश के लिए आवश्यक है। यह एक बहुविकल्पीय परीक्षा है जो तर्क, समस्या-समाधान, जैविक और रासायनिक ज्ञान और सामान्य संस्कृति का आकलन करती है।

5. प्रवेश परीक्षाएं विश्वविद्यालय विशिष्ट

कुछ विश्वविद्यालय अपनी प्रवेश परीक्षाएं भी आयोजित करते हैं।

एमबीबीएस की फीस – MBBS fees in Hindi

एक दिलचस्प बात यह है कि एमबीबीएस (बैचलर ऑफ मेडिसिन, बैचलर ऑफ सर्जरी) भारत में सबसे प्रतिष्ठित और मांग वाले स्नातक चिकित्सा कार्यक्रमों में से एक है। यह 5.5 साल का कोर्स है जिसमें छात्रों को मानव शरीर, रोगों, निदान और उपचार के बारे में गहन ज्ञान प्रदान किया जाता है।

एमबीबीएस की फीस भारत में कॉलेज के प्रकार, स्थान और सुविधाओं के आधार पर बहुत भिन्न होती है। सरकारी मेडिकल कॉलेजों में फीस निजी कॉलेजों की तुलना में काफी कम होती है।

सरकारी कॉलेज में एमबीबीएस की फीस

  • एम्स में एमबीबीएस की फीस
    • केंद्र सरकार द्वारा संचालित मेडिकल कॉलेजों में: लगभग ₹500 प्रति वर्ष
    • राज्य सरकार द्वारा संचालित मेडिकल कॉलेजों में: ₹1,000 से ₹10,000 प्रति वर्ष
  • राज्य कोटा:
    • राज्य सरकार द्वारा निर्धारित शुल्क, जो आमतौर पर ₹5,000 से ₹50,000 प्रति वर्ष तक होता है।

प्राइवेट कॉलेज में एमबीबीएस की फीस

  • एमबीबीएस प्राइवेट कॉलेज फीस
    • ₹1 लाख से ₹1 करोड़ प्रति वर्ष तक हो सकती है।
    • कुछ प्रसिद्ध और प्रतिष्ठित निजी मेडिकल कॉलेजों में फीस ₹20 लाख या उससे अधिक भी हो सकती है।

एमबीबीएस डॉक्टर की सैलरी – MBBS doctor salary in Hindi

सरकारी एमबीबीएस डॉक्टर की सैलरी कई कारकों पर निर्भर करती है, जैसे अनुभव, कार्य का स्थान, विशेषज्ञता, और नियोक्ता।

  • शुरुआती वेतन: एमबीबीएस करने के बाद, एक इंटर्न डॉक्टर को आमतौर पर ₹25,000 से ₹35,000 प्रति माह का वेतन मिलता है।
  • अनुभवी डॉक्टर: कुछ सालों के अनुभव के बाद, डॉक्टर का वेतन ₹50,000 से ₹1 लाख प्रति माह तक हो सकता है।
  • विशेषज्ञ डॉक्टर: जो डॉक्टर किसी विशेष क्षेत्र में विशेषज्ञता प्राप्त करते हैं, वे ₹1 लाख से ₹3 लाख प्रति माह या उससे अधिक कमा सकते हैं।

निष्कर्ष – Conclusion

एमबीबीएस डॉक्टर बनना एक कठिन लेकिन बेहद सं rewarding रास्ता है। यह यात्रा निरंतर सीखने, कड़ी मेहनत और दूसरों की मदद करने के जुनून की मांग करती है।यदि आप इस क्षेत्र में अपना भविष्य देखते हैं, तो दृढ़ रहें, कड़ी मेहनत करें और अपने लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए हर संभव प्रयास करें। रास्ते में आपको चुनौतियों का सामना करना पड़ेगा, लेकिन सफलता की प्राप्ति इन चुनौतियों को और भी मीठा बना देगी।

एमबीबीएस डॉक्टर कैसे बनें के बारे में अक्सर पूछे जाने वाले सवाल (FAQ)

Q. प्राइवेट कॉलेज में एमबीबीएस की फीस कितनी है?

Ans. प्राइवेट मेडिकल कॉलेजों में MBBS की फीस काफी अधिक होती है और यह कॉलेज से कॉलेज के आधार पर बहुत भिन्न हो सकती है। हालांकि, आम तौर पर निजी मेडिकल कॉलेजों में MBBS कोर्स की सालाना फीस लगभग 8 लाख से 25 लाख रुपये के बीच होती है।

Q. एमबीबीएस कितने साल का है?

Ans. MBBS कोर्स की अवधि आमतौर पर 5.5 वर्ष या 4.5 वर्ष + 1 वर्ष की इंटर्नशिप होती है.

Q. एमबीबीएस की पढ़ाई कितने साल की होती है?

Ans. एमबीबीएस कोर्स 5.5 साल का होता है, जिसमें 1 साल का इंटर्नशिप भी शामिल है।

Q. एमबीबीएस डॉक्टर बनने के लिए कितना खर्च आता है?

Ans. एमबीबीएस की फीस मेडिकल कॉलेज और उसके स्थान के आधार पर भिन्न होती है।
सरकारी मेडिकल कॉलेजों में फीस कम होती है, जबकि निजी मेडिकल कॉलेजों में फीस अधिक होती है।
एमबीबीएस की पढ़ाई का कुल खर्च ₹5 लाख से ₹20 लाख तक हो सकता है।

Q. एमबीबीएस डॉक्टर बनने के लिए क्या करना पड़ता है?

Ans. 10वीं और 12वीं कक्षा की परीक्षाओं में अच्छे अंक प्राप्त करना: विज्ञान विषयों जैसे भौतिकी, रसायन विज्ञान और जीव विज्ञान में अच्छे अंक प्राप्त करना महत्वपूर्ण होता है। यह एमबीबीएस में प्रवेश के लिए आवश्यक है।
नीट परीक्षा उत्तीर्ण करना: राष्ट्रीय पात्रता सह प्रवेश परीक्षा (नीट) मेडिकल कॉलेजों में दाखिले के लिए आयोजित की जाती है। इस परीक्षा में अच्छे अंक प्राप्त करने के लिए अभ्यास और तैयारी करना महत्वपूर्ण है।

2024] बीएसएफ भर्ती में 144 पदों के लिए ऑनलाइन आवेदन

Leave a Comment